Home ज़रा सोचो कुछ ऐसे भी विचार कर देखिये ,शायद आनंद आ जाए ‘|

कुछ ऐसे भी विचार कर देखिये ,शायद आनंद आ जाए ‘|

0 second read
0
0
97

[1]

‘प्रभु’  परीक्षा  जरूर  लेते  हैं’ ,
‘परंतु  ‘सामर्थ्य’ साथ  देते  हैं ‘,
‘हर  परीक्षा  हेतु  तैयार  रहो’ ,
‘उत्तीर्ण  भी  हो  जाओगे’|

[2]

‘किसी  के  ह्रदय  को  छु  लेना’,
‘सर्वोत्तम  विधा  मान  कर  चलो’,
‘कैसे  दिलों  में  समाया  जाए’,
‘मानव  हो  कर  भी  नहीं  समझे ‘|

[3]

‘अध्यापक  सिखाता  है  फिर  परीक्षा  ले  कर  फेल / पास  करता  है’,
‘वक्त’ पहले  परीक्षा  लेता  है  फिर  बताता  है ,अच्छा/ बुरा  क्या  है ‘?

[4]

‘जब  आँसू  आपका  टपके ,’दर्द  से  दूसरा  कराहने  लगे ‘,
‘समझो  ‘स्नेह’-‘सोने  का सिक्का  है’ ,’कभी  खो  मत  देना  उसे ‘|

[5]

‘जिंदगी में अच्छाई/बुराई दोनों काबहाव होता है ‘,
‘कहीं दुआएं मिलेंगी तो कहीं
‘दुर्भाव’ भी टकराएँगे ‘|

[6]

‘ईमानदारी  की  कमाई’ में  बरकत  है’,
‘सुख  की  नींद  सोते  हैं ‘,
‘बेईमानी  की  कमाई  बचाने  में’ ,
‘नींद  हराम  रहती  है  सबकी ‘|

[7]

‘ भरे  पेट  वालों  को   भी  ‘ जिंदगी ‘  से  शिकायत   है ‘,
‘जो झटके  खा कर  जिंदगी जीते  हैं’,’खुश  नहीं  रहते  कभी ‘|

[8]

‘अच्छे  विचार  रखने  वालों  के  लिए
‘खुशी’  एक  बेनज़ीर  तोहफा  है’,
‘प्रातः  जल्दी  उठें  ,’स्नेह  और  मुस्कराहट’
से  दिन  का  स्वागत  करें’|

[9]

‘माना,  जिंदगी  की  डगर  आसान  नहीं’,
‘उलझनों  का  गुलिस्ता  है ‘,
‘मुस्कराते  रहने  में  कोई  खर्चा  नहीं’,
‘फिर  भी  रोये  जाते  हो , गजब’ |

[10]

‘ सादगी  और  ईमानदारी’  ने  किसी  काम  का  नहीं  छोड़ा’,                                                                                                                      ‘भूखा  मरने  की  नौबत  आ  गयी ‘,
‘ येँ  दोनों  बातें  मजबूर  कर  रही  हैं  रात  दिन ‘,                                                                                                                                            ‘ जिंदा  रहना  है  तो  कुछ  तो  गुनाह  कर ‘ |

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In ज़रा सोचो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

“भगवान श्री राम के अयोध्या पधारने का पल आ गया है ‘नाचो, गाओ मंगल गीत ” !

उठु  भारत  हो…. कितने   युगों   पुरानी   घटना   है ,  जब  एकाएक   अयोध्या   की   सभी…