Home सेल्फ इम्प्रूव्मन्ट आसक्ति को घटाता चल

आसक्ति को घटाता चल

0 second read
0
0
1,194

‘कम    बोलो’ , ‘काम    का   बोलो ‘ , ‘आनंद   की   अनुभूति     हो    सबको ‘ ,

‘हर   किसी   का   चहेता    बन ‘ ,  ‘अच्छे    इन्सान    के’  ‘ लक्षण    हैं    ये ‘  ,

‘कड़ी   मेहनत  का ‘  ‘तप   करना   सीख ‘  ,   ‘आलस्य    को   फौरन   भगा ‘ ,  

‘संसार ‘  ‘ नाशवान’    और    ‘ मिथ्या ‘   है ,  ‘आसक्ति    को   घटाता   चल  ‘ |

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In सेल्फ इम्प्रूव्मन्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…