Home कविताएं आर्ट ऑफ लिविंग क्या है ?

आर्ट ऑफ लिविंग क्या है ?

0 second read
0
0
1,137

‘अपनी   ज़िंदगी   को’  ‘ पूरे  जोश  ‘ और  ‘ जुनून’   के  साथ   जी ‘ ,

‘निष्ठा’ ,’ईमानदारी’ , ‘सकारात्मक  सोच ‘ से  ‘अपना जीवन  सींच’ ,

‘सदा  शांत  रहो ‘ , ‘किसी  भी  बात  पर’  ‘गुस्सा  करना  बंद  करो ‘,

‘यही  आर्ट ऑफ  लिविंग  है ‘, ‘अनिश्चितता  के  बादल  छंट  जाएंगे ‘ |

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In कविताएं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…