Home कोट्स Motivational Quotes ‘आपका मुस्कराना ‘ ‘अनमोल उपहार’ है सबके लिए – इसे भूल मत जाना |

‘आपका मुस्कराना ‘ ‘अनमोल उपहार’ है सबके लिए – इसे भूल मत जाना |

0 second read
0
0
676

[1]

जरा सोचो
‘ढुलमुल  नीति’  से  जीना ,  कोई  ‘ जीना ‘  नहीं  होता ,
‘कमर’ कस कर ‘मैदान ए जंग’ में उतर जाना,’ सदा उत्तम’ !

[2]

दशहरे पर
‘आपका मुस्कुराना’ हम अपने लिए ‘अनमोल उपहार’ मानते हैं,
‘दशहरे पर ‘मुस्कुरा कर मिलना’ ‘सौहार्द’ का ‘अनुपम उदाहरण’ है’ !

[3]

जरा सोचो
‘भाग्य’ को ‘कुदरत’ का लिखा ‘दस्तावेज’ समझ कर ‘जी’ रहे हो जनाब,
‘मटरगश्ती’ की दुकान बंद करो, ‘कुछ करके’ अपना ‘भाग्य’ खोलो’ !

[4]

जरा सोचो
‘शमा’ जलाना जानते हो, ‘मुस्कुराना’ जानते हो, ‘सिर’ झुकाना जानते हो,
कोई  ‘ तपिश ‘ तुझे  ‘ कंपा ‘  नहीं  सकती , ‘ मुकद्दर  के  सिकंदर  हो ‘ !

[5]

जरा सोचो
‘ऊंचा’ उठने हेतु ‘डिग्री’ नहीं, ‘सुसंस्कृत’ होने की जरूरत है,
‘वाणी’ का ‘माधुर्य’, ‘नम्रता’ और ‘दया,’ प्रारूप है उसके’ !

[6]

जरा सोचो
‘ योग्यता’ ‘उच्च स्थान’ दिला देगी, उसे बनाए रखना ‘जिम्मेदारी’ तुम्हारी है,
‘अहम भाव’ और ‘सांसारिक हवा’ में फंस गए तो ‘पानी’ फिर जाएगा उस पर’ !
[7]
जरा सोचो
‘अनेकों पापड’ बेलकर ही ‘महानता का इतिहास’ बनता है,
‘ दो  अक्षर’ पढ़  कर ‘खुद’  को ‘इतिहासकार’ कहने  लगे’ !
[8]
 मेरी प्रार्थना
‘मां   भगवती’  से   करबद्ध   प्रार्थना   है ,  आप   सबका   ‘हर   पल’   आनंदमय’   गरिमामय,   परोपकारमय,
दयामय  , प्रेममय,   और   सकारात्मक   सोच  ,   में   व्यतीत   होता   रहे’ !
[9]
जरा सोचो
चाहे जब, चाहे जिससे, ‘मोहब्बत’ करो, किसने रोका है ?
जब दूसरे के ‘दिल में मोहब्बत’ जगे, तभी ‘मोहब्बत’ है !
[10]
जरा सोचो
किधर जाओगे ? ‘दोस्ती’ कर लो, अन्यथा ‘बिगड़’ जाओगे,
हम ‘निभा’ कर दिखा देंगे, ‘आजमाने’ की कोशिश तो कर’ !
Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In Motivational Quotes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…