Home ज़रा सोचो आखिर ‘पति’ के लिए ‘ पत्नी ‘ क्यों जरूरी है ?👈🏀

आखिर ‘पति’ के लिए ‘ पत्नी ‘ क्यों जरूरी है ?👈🏀

1 second read
0
0
1,034
आखिर   पति   के   लिए   पत्नी   क्यों   जरूरी   है  ?👈🏀
🙏मानो   न   मानो –🙏
👌(१) जब  तुम  दुःखी  हो ,  तो  वह  तुम्हें  कभी   अकेला   नहीं  छोड़ेगी ।🎾
👌(२) हर  वक्त ,  हर  दिन ,  तुम्हें  तुम्हारे  अन्दर  की  बुरी  आदतें  छोड़ने  को  कहेगी ।🌕
👌(३) हर  छोटी -छोटी  बात  पर  तुमसे  झगड़ा  करेगी ,  परंतु  ज्यादा  देर  गुस्सा  नहीं  रह  पाएगी ।  🎾
👌(४) तुम्हें  आर्थिक  मजबूती  देगी ।🌕
👌(५) कुछ  भी  अच्छा  न  हो , फिर  भी,  तुम्हें  यही  कहेगी ;  चिन्ता  मत  करो ,  सब  ठीक  हो  जाएगा ।🎾
👌(६) तुम्हें  समय  का  पाबन्द  बनाएगी ।🌕
👌(७) यह  जानने  के  लिए  कि  तुम  क्या  कर  रहे  हो ,  दिन  में  15  बार  फोन  करके  हाल  पूछेगी ।
कभी  कभी  तुम्हें  खीझ  भी  आएगी ,  पर  सच  यह  है  कि  तुम  कुछ  कर  नहीं  पाओगे ।🎾
👌(८) चूँकि, पत्नी ईश्वर का दिया एक
विशेष  उपहार  है, इसलिए  उसकी  उपयोगिता  जानो  और  उसकी  देखभाल  करो।🌕
👌(९) यह  सन्देश  हर  विवाहित  पुरुष  केमोबाइल  पर  होना  चाहिए ,  ताकि  उन्हें
अपनी  पत्नी  के  महत्व  का  अंदाजा  हो ।🎾
👌(१०) अंत  में  हम  दोनों  ही  होंगे।🌕
👌(११) भले  ही  झगड़ें ,  गुस्सा  करें ,
एक  दूसरे  पर  टूट  पड़ें ,  एक  दूसरे  पर  दादागीरी  करने  के  लिए ;  अंत  में  हम  दोनों  ही  होंगे ।🎾
👌(१२) जो  कहना  है, वह  कह  लें, जो  करना  है, वह  कर  लें;  एक  दूसरे  के  चश्मे  और  लकड़ी  ढूंढने  में ,
अंत  में  हम  दोनों  ही  होंगे ।🌕
👌(13) मैं  रूठूँ  तो  तुम  मना  लेना ,  तुम  रूठो  तो  मैं  मना  लूंगा ,
एक  दूसरे  को  लाड़  लड़ाने  के  लिए ;अंत  में  हम  दोनों  ही  होंगे ।🎾
👌(१४) आंखें   जब   धुंधली  होंगी ,  याददाश्त   जब   कमजोर   होगी,
तब  एक  दूसरे  को, एक दूसरे में  ढूंढने  के  लिए, अंत  में  हम  दोनों  ही  होंगे।🌕
👌(१५) घुटने जब दुखने लगेंगे,
कमर  भी  झुकना  बंद  करेगी ,  तब  एक  दूसरे  के  पांव  के  नाखून  काटने  के  लिए ,  अन्त  में  हम  दोनों  ही  होंगे ।🎾
👌(१६) “अरे  मुुझे  कुछ  नहीं  हुआ,
बिल्कुल  नॉर्मल  हूं”  ऐसा  कह  कर  एक  दूसरे  को  बहकाने  के  लिए,  अंत  में  हम  दोनों  ही  होंगे ।🌕
👌(१७) साथ  जब  छूट  जाएगा, विदाई  की  घड़ी  जब  आ  जाएगी ,
तब  एक  दूसरे  को  माफ  करने  के  लिए अंत  में  हम  दोनों  ही  होंगे ।💑
🌹🌹टिप्पणी : पति-पत्नी   पर   व्यंग्य   कितने   भी   हों ,  किन्तु   सत्य   यही   है  ।💐💐💐
Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In ज़रा सोचो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…