Home हमारा देश “आओ ! आज़ादी के सफर को सुगंधित करें” |

“आओ ! आज़ादी के सफर को सुगंधित करें” |

0 second read
Comments Off on “आओ ! आज़ादी के सफर को सुगंधित करें” |
0
1,099

जिन्होने ‘जोश’ ,’साहस’ , ‘संकल्प’, ‘आस्था’,’आत्मविश्वास’ से ‘ परिचय कराया’ ,
‘देश को ‘ सर्वोत्तम’ , ‘उत्कृष्ट’ ,’ सशक्त’  और ‘ समर्द्ध ‘ ‘ बनाने  का  संकल्प  लिया’ ,
‘आओ’ ! ‘उनके   पद  चिन्हों   पर  चलें’  ,’ आज़ादी  के  सफर  को  सुगंधित  करें’ ,
‘जिन   निकृष्टम  विधाओं   से’ ‘  अपना  देश   घिरा   है ‘ , ‘उनसे  निजात  कराएं ” |

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In हमारा देश
Comments are closed.

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…