Home कोट्स Love Quotes ‘अहसास और व्यवहार ‘

‘अहसास और व्यवहार ‘

2 second read
0
0
1,127

[1]

‘हमने  ‘खफा’  या ‘बेवफा’  होना  कभी  सीखा  ही  नहीं ‘,
‘ प्यार  के  साँचे   में  ढले  हैं ,फिर  ‘बेइंसाफ़ी  किसलिए ‘?

[2]

‘सबके ‘अहसास’ अलग , सबके ‘व्यवहार अलग मिलते हैं ‘,
‘कातिल निगाहों से देखने वाले ‘अंदाज़ ‘ तो बदल अपना ‘ |

[3]

‘मन की व्यथा खुल कर बता , खामोशियाँ पर्दा बनाए बैठी हैं ‘,
‘इतना बेदर्द मत समझ हमको हालेमन कुछ तो बयां कर दो ‘|

[4]

मित्रता ;-
‘हित में रक्षा ‘ और ‘अहित  से  रक्षा’ मित्र  खूब  जानते  हैं ‘,
‘ विपत्ति  में  साथ  नहीं  छोड़ते  , जी  जान  लगा  देते  हैं ‘|

[5]

‘जिंदगी  से  शिकायतों  का  पुलिंदा  पूरे  शबाब  पर  है ‘,
‘ जब  दर्द  की  रिपोर्ट  लिखाने  गए  ,लंबी  कतार  थी ‘|

[6]

‘इंसान’ ‘दिल में उतर जाता है’ या ‘दिल से उतर जाता है ‘,
‘ यह   दिल  का  मामला  है ‘ कारीगरी  कुछ   भी   नहीं ‘

 

 

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In Love Quotes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…