Home जीवन शैली “अपने व्यवहार पर सन्तुलन रखना जरूरी है “|

“अपने व्यवहार पर सन्तुलन रखना जरूरी है “|

0 second read
0
0
976

“असफलता   से   हम   निराश   होते   है “, ” अक्सर   टूट   जाते   हैं ” ,

“हम  सफलता   में   गर्वोन्मुक्त   हो ” “खुशी   में   फूले  नहीं  समाते “,

“हमें   अच्छा – बुरा , अपना – पराया “,” सही – गलत  नहीं  दीखता “,

“सभी  छोटे , बोने   नज़र  आते   हैं ‘, “चमक  में  चकाचोंध  रहते  हैं “,

“सारे  सम्बंध “, “सारे  मूल्य”,” सारे  रिस्ते”,” फीके  नज़र  आते  हैं” ,

“कब  वक्त  की आँधी आ  जाए”,’चमकता  ताज  ले  डूबे’,भूल  जाते है” ,

“दोस्तों “!”जीवन  के  हर  मोड  पर”,”हर  उतार  पर”,”हर  चढ़ाव  पर” ,

“हर  पड़ाव  पर”,”हमें  अपने  व्यवहार  पर  सन्तुलन  रखना  जरूरी  है ” |

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In जीवन शैली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…